Friday, 27 November 2015

दर्द भरी शायरी दो लाइन


क्या हूँ मैं…


क्या हूँ मैं और क्या समझते है,
सब राज़ नहीं होते बताने वाले,
कभी तनहाइयों में आकर देखना,
कैसे रोते है सबको हसाने वाले |

Sunday, 18 October 2015

दर्द शायरी दो लाइन




दर्द दे कर…


दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया…

Wednesday, 2 September 2015

मेरी ख्वाबिन्दा उमिदोको


मेरी ख्वाबिन्दा उम्मीदों को जगाया क्यों था …
दिल जलना था तो फिर तुमने दिल लगाया क्यों था ..
अगर गिरना था इस तरहा नजरोसे हमें …
तो फिर मेरे इस्सक को कलेजे से लगाया क्यों था..

Tuesday, 5 May 2015

कुछ दर्द भरी हिन्दी शायरी ...


अपनो को…


अपनो को दूर होते देखा ,
सपनो को चूर होते देखा !
अरे लोग कहते हे फ़िज़ूल कभी रोते नही ,
हमने फूलोँ को भी तन्हाइयोँ मे रोते देखा!

Thursday, 30 April 2015

बेवफाओ शायरी


दुनिया मे बेवफाओ की कमी नही अब सूरज को देख लो
आता है उशा के साथ
रहता है किरण के साथ
और जाता है संधया के साथ….

Saturday, 18 April 2015

बेवफा शायरी मोहब्बत पर

बेवफा शायरी

मोहब्बत का नतीजा,
दुनिया में हमने बुरा देखा,
जिन्हे दावा था वफ़ा का,
उन्हें भी हमने बेवफा देखा.

Tuesday, 24 March 2015

Short Dard Shayari SMS


woh bhi meri tarha raaton mein karvat badalta hoga,
woh bhi meri tarha apne ansuon ke rang mein dhalta hoga,

woh bhi meri tasweer se lippat ke rota hoga,
apne dhhikaarate hue zameer se ladta hoga,

kitna pyaar karti thi main yeh usko yaad tou hoga,
mere liye bhi woh aahein bharta tou hoga,

beqaraar hoon main jiss tarah aise woh bhi beqaraar tou hoga,
yoonhi tou milte zazbaat nahin ab bhi mujhse usko pyaar tou hoga...